Featured Post

मौहम्मद गौरी का वध किसने किया था??(Did Prithviraj chauhan killed Mohmmad ghauri?)

Did Prithviraj Chauhan killed Mohmmad Ghauri????? मौहम्मद गौरी का वध किसने किया था? सम्राट पृथ्वीराज चौहान ने अथवा खोखर राजपूतो ने??...

Monday, September 7, 2015

औरंगाबाद जिला (मगध) :- बिहार का चित्तौडगढ़ (ORANGABAD,CHITTORGARH OF BIHAR)

लेखक---ठाकुर प्रभात सिंह परमार जी,ओरंगाबाद जी से साभार 

औरंगाबाद जिला (मगध) :- बिहार का चित्तौडगढ़ 
जय राजपुताना------

मित्रों कुछ लोगो को भृम है कि राजपुताना सूर्य अब अस्त हो चूका है।पर हम उन्हें बताना चाहेंगे कि भले ही इसकी चमक कुछ कम हो गई हो फिर भी उत्तर दक्षिण पूर्व पश्चिम चारो दिशाओं में आज भी राजपुताना का जलवा कायम है।

आज हम आपको पूर्वी भारत के बिहार प्रान्त में स्थित ओरंगाबाद जिले में राजपूतो के वर्चस्व की जानकारी देंगे जिसे बिहार का चित्तौड़गढ़ कहा जाता है........
औरंगाबाद जिला (मगध) :- बिहार का राजपूताना (राजपूताना अर्थात राजपूत बहुल्य क्षेत्र)
आईये देखते हैं 25 लाख से ज्यादा आबादी वाले ईस शहर को बिहार का “राजपूताना” क्युं कहा जाता है !
सबसे पहले ~~
•औरंगाबाद जिले के सांसदों कि सुची (आज़ादी के बाद से लेकर अभी तक ) :-
1950- डा. सत्येन्द्र नारायण सिंह,( राजपूत ) , कांग्रेस
1952- डा. सत्येन्द्र नारायण सिंह,( राजपूत ) , कांग्रेस
1957- डा. सत्येन्द्र नारायण सिंह,( राजपूत ) , कांग्रेस
1961- बाबू रमेश सिंह ( राजपूत ) , कांग्रेस
1967- बाबू मुद्रिका सिंह (राजपूत) , कांग्रेस
1971- डा. सत्येन्द्र नारायण सिंह,( राजपूत ) , कांग्रेस
1977- डा. सत्येन्द्र नारायण सिंह,( राजपूत ) , जनता पार्टी
1980- डा. सत्येन्द्र नारायण सिंह,( राजपूत ) , जनता पार्टी
1984- डा. सत्येन्द्र नारायण सिंह,( राजपूत ) , कांग्रेस
1989- बाबू राम नरेश सिंह ( राजपूत ), जनता दल
1991- बाबू राम नरेश सिंह ( राजपूत ), जनता दल
1996- बाबू विरेन्द्र कुमार सिंह ( राजपूत ), जनता दल
1998- बाबू सुशील कुमार सिंह ( राजपूत ), समता पार्टी
1999- श्यामा सिंह ( राजपूत ), कांग्रेस
2004- बाबू निखील कुमार सिंह (राजपूत) , कांग्रेस
2009- बाबू सुशील कुमार सिंह (राजपूत), जनता दल युनाईटेड (ज.द.यु.)
2014-बाबू सुशील कुमार सिंह (राजपूत),बीजेपी
आज़ादी से लेकर अभी तक् जितने भी सांसद हुए हैं सभी राजपूत जाती से हैं

• औरंगाबाद जिले के वर्तमान विधायकों कि सुची :-
1. नवीनगर – बाबू विरेन्द्र सिंह (राजपूत)
2. औरंगाबाद – बाबू रामाधार सिंह ( राजपूत, *सहकारीता मंत्री*, भाजपा )
3. रफी गंज – बाबू अशोक सिंह (राजपूत)
4. ओबरा- सोम प्रकाश (यादव )
5. गोह – रण विजय (भुमिहार ब्राहमण)
6. कुटुम्बा – ललन राम , एस.सी. रीजर्व सीट (कुटुम्बा क्षेत्र में 60% से ज्यादा आबादी, राजपूत जाती कि हैं,अगर आरक्षित ना होता तो यहाँ भी राजपूत विधायक होता )

• औरंगाबाद जिले के राजपूत रजवाडों एवं प्रसिध गढों के नाम् :-
1. देव गढ स्टेट
2. पवई गढ स्टॆट
3. माली गढ स्टॆट
4. चन्द्र गढ स्टॆट
5. ईटवा स्टॆट
6. उमगा स्टॆट
7. सिरीस
8. पोखर गढ
9. कर्मा भग्वान
10. बलिया-बभंडीगढ

• औरंगाबाद जिले कि कुछ महान राजपूत हस्तीयां :-
1.स्व. महाराजा भैरवेन्द्र सिंह जी :- (उमगा स्टॆट के महाराजा, 16वीं सदी )!
2.स्व. राणा साहात्रमाल सिंह जी :- (उमगा स्टॆट के महाराजा,बाद में देव गढ स्टेट ,17वीं सदी )!!!
3.पवई गढ स्टॆट के स्व. राजा नारायण सिंह जी :- ( राजा साहब ,बिहार में अंग्रेजों के प्रथम शत्रु के रूप में जाने जाते हैं, ईन्होंने बडे ही बहादुरी और दिलेरी के साथ् अंग्रजों का मुकाबला किया, और् अंत तक अपने किले को ईन से बचाये रखा था !)!!! उनकी तोपें आज भी ईस गढ में विराजमान है !!

4.बिहार बिभुती डा. अनुग्रह नारायण सिंह जी :- 
( भारत कि आज़ादी के लडाई में अनुग्रह बाबू का नाम सुनहरे अक्षरों में लिखा गया है !! और साथ ही बाबू साहेब आधुनिक बिहार के नवनिर्माता के रुप में भी जाने जाते हैं )!!बाबु जी बिहार के प्रथम उपमुख्यमंत्री थे,वे मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार थे पर राजपूत विरोधी कांग्रेस ने उनके स्थान पर भूमिहार जाति के श्रीकृष्ण सिंह को मुख्यमंत्री बना दिया,बाबु अनुग्रह नारायण सिंह जी ने बिहार के बाहर भी राजपूत आंदोलनों में भाग लिया तथा राजस्थान के भूस्वामी आन्दोलन में भी राजपूतो के हक़ की आवाज उठाई.

5.बिहार के भुतपूर्व मुख्यमंत्री डा. सत्येन्द्र नारायण सिंह जी :- 
( प्यार से इन्हें 'छोटे साहब' कहा जाता था,इन्हें बिहार की राजनीती का किंगमेकर भी कहा जाता था और अनेको मुख्यमन्त्री बनाने में इनका हाथ रहा है, रघुवंश प्रसाद सिंह, नितीश कुमार, राम विलास पासवान जैसे अनेक नेताओ ने इनसे ही राजनीती सीखी, सन् 66 में इन्होंने खुद इंदिरा गांधी का दिया गया मुख्यमन्त्री बनने का प्रस्ताव ठुकरा दिया था। इन्होंने सन 1977-1980 में ईन्दिरा गांधी के सरकार को खुले तौर पे चुनौती दी और कांग्रेस छोडकर जनता पार्टी से चुनाव लडॆ एवं जीत हासील कि !! ईस जीत के बाद ही ईन्दीरा गांधी ने औरंगाबाद जिले को “ चितौडगढ” कि उपाधी दी जो आज तक है !!
6.बाबू शंकर दयाल सिंह जी :- (पिता स्व. कामता सिंह जी Author and Parliamentarian, लोकसभा (1971-77) के सदस्य एवं राज्य सभा के स्दस्य ) !!
7.बाबू रमेश सिंह जी :- भुतपूर्व सांसद, मशहुर एवं काबील वकील!!
8. बाबू विजय सिंह :- भुतपूर्व शिक्षा मंत्री एवं विधायक (रफी गंज )
9.बाबू निखील सिंह जी :- ( भूतपूर्व सांसद औरंगाबाद, पूर्व राज्यपाल नागालैंड एवम् केरल, पूर्व पुलिस कमिश्नर दिल्ली पुलिस एवं पूर्व डायरेक्टर जनरल ITBP और NSG)!
10.बाबू सुशील सिंह जी :- (वर्तमान सांसद , ज.द.यु.)!!
11. बाबू रामाधार सिंह जी :- ( वर्तमान विधायक एवं *सहकारीता मंत्री*, भा.ज.पा.)!!
12. श्री मती श्यामा सिंह जी :- भुतपूर्व सांसद !!

•औरंगाबाद जिले में राजपूतों के सम्मान में, उनके नाम से चौक-चौराहे, स्कुल-कालेज एवं रेलवे स्टेशन :-
1.रमेश चौक :- बाबू रमेश सिंह जी, जो कि 1961 में यहां के सांसद एवं एक काबिल वकिल भी थे, उनके सम्मान में यह चौक जिले के मध्य में बनाया गया था!!! यह चौक ईस जिले का दिल है, या युं कहें कि , राजधानी दिल्ली का चांदनी चौक जितना प्रसिध है, उतना ही औरंगाबाद का रमेश चौक !!!

2.महाराणा प्रताप चौक :- राजपूताना (राजस्थान) के महान योधा महाराणा प्रताप् जी के सम्मान में बनवाया गया चौक !! यहां हांथ में तलवार लिये , चेतक घोडे पे सवार राणा साहेब कि मुर्ती देखते बनती है !! नमन ईन्हें !!!
3.अनुग्रह नारायण रेलवे स्टेशन :- बिहार बिभुती डा. अनुग्रह बाबू के सम्मान में !
4.अनुग्रह नारायण रोड :- बिहार बिभुती डा. अनुग्रह बाबू के सम्मान में !
5.अनुग्रह नारायण मेमोरियल कालेज (मगध विश्वविद्यालय्) :- बिहार बिभुती डा. अनुग्रह बाबू के सम्मान में !
6.अनुग्रह ईंटर स्कूल ( गेट स्कूल):- बिहार बिभुती डा. अनुग्रह बाबू के सम्मान में!
7.किशोरी सिन्हां (सिंह) महीला महाविद्यालय (मगध विश्वविद्यालय्) :- बिहार के भुत पूर्व मुख्यमंत्री डा. सत्येन्द्र नारायण सिंह जी कि धर्मपत्नि के सम्मान में !!
8.राजा नारायण सिंह चौक :- work in progress

*जिले में बिभीन्न वंशों के क्षत्रिय/राजपूत :-
1. परमार/पंवार 2. चौहान 3. शिशोदिया 4. चंदेल 5. गहलोत 6. सोलंकी 7. राठोड 8. बघेल 9. शिकरवार/शिकरीवाल् 10. सिरमौर 11. तोमर 12. उज्जैनिया 13. कछ्वाहा 14. सेंगर्
15.कंदवार (पोईवां पंचायत )16. विसेन 17.जादौन
कुछ और भी वंश के क्षत्रिय/राजपूत हैं !! जिन्हें मालुम हो क्रिपया बतायें !!

@नमन ईस माटी में जन्म लिये उन महान पूर्वजों को, जिनके वजह से आज हम सब गौरवान्वीत महसुस करते हैं, और साथ ही सपथ लेते हैं कि जो ईज्जत उन्होंने कमाई है अगर हम उन्हें बढा नहीं सकते तो कम से कम बचा के तो रखेंगे ही !!
!!!जय राजपूत!! जय राजपूताना!!

No comments:

Post a Comment